Pulwama terror attack

वक्त की आवाज़…

शहादत पर गर्व नही, सवाल कर
गद्दारों का इंतकाल अब,अभी तत्काल कर
बहाओगे आंसू कब तक,यूं सपूतों के कुर्बानी पर
है लेना बदला ग़र, उठो,संभलो, और बवाल कर ।

       चित्र आभार : गूगल

लेना उरी का बदला हों,हों या पुलवामा

बहुत हुआ अब,हमें करना ही होगा हंगामा
शांति का पाठ पढ़ा, यूं बापू अमर हुए कबके
बहरे हैं ये नही सुनेंगे,एक और सुलहनामा ।

© अमित फोर्बेसगंजी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat